अपराधउत्तर प्रदेश

STF ने डकैती के साथ हत्या एवं गैंगेस्टर में वांछित 50 हजार के इनामी सहित पांच गिरफ्तार 

लखनऊ। एसटीएफ, उत्तर प्रदेश को डकैती के साथ हत्या एवं गैंगेस्टर एक्ट के अभियोग में वांछित पचास हजार रूप्ये के पुरस्कार घोषित घुमन्तू जनजाति के कुख्यात अपराधी बग्गा उर्फ शहादत उर्फ मुन्ना सहित डकैती, चोरी आदि की घटनाओं में वांछित 05 अपराधियों को थाना सुरीर, जनपद मथुरा पुलिस के सहयोग से सभी को गिरफ्तार किया।
गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरण

  1. बग्गा उर्फ शहादत उर्फ मुन्ना पुत्र जमात अली उर्फ नाजिम उर्फ नाजम उर्फ इब्राहिम निवासी बिनौरा, थाना तिर्वा, जनपद कन्नौज। हाल पता-झुग्गी झोपड़ी भांकरोटा, जिला जयपुर, राजस्थान।
  2. कादिर राणा उर्फ सियाज उर्फ भूरा पुत्र फाती उर्फ पहलवान उर्फ असद खान, हाल निवासी -झुग्गी झोपड़ी भांकरोटा, जिला जयपुर, राजस्थान।
  3. कलीम उर्फ मास उर्फ आदिल पुत्र शेरखान उर्फ आदिल उर्फ आदल निवासी रजबपुर, थाना रजबपुर, जनपद अमरोहा। हाल पता-झुग्गी झोपड़ी भांकरोटा, जिला जयपुर, राजस्थान।
  4. करीम खान उर्फ सोहेल उर्फ भगत पुत्र हसमुददीन उर्फ आजिब निवासी-झुग्गी झोपड़ी भांकरोटा, जिला जयपुर, राजस्थान।
  5. इकबाल उर्फ जावा उर्फ पम्मी पुत्र जमात अली उर्फ नाजिम उर्फ नाजम निवासी-झुग्गी झोपड़ी भांकरोटा, जिला जयपुर, राजस्थान।

बरामदगीः-
03 अदद तमन्चा 315 बोर
05 अदद कारतूस जिन्दा 315 बोर
02 अदद खोखा कारतूस 315 बोर
02 अदद चाकू नाजयजएसटीएफ ने वांछित एवं पुरस्कार घोषित अपराधियों तथा घुमन्तू छैमार जनजाति के कुख्यात/सक्रिय अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए एसटीएफ यूपी को निर्देशित किया गया था। इसी क्रम में राज कुमार मिश्रा, अपर पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ फील्ड इकाई, नोयडा के पर्यवेक्षण में निरीक्षक सचिन कुमार के नेतृत्व में एसटीएफ फील्ड इकाई, नोएडा की टीम द्वारा अभिसूचना संकलन की कार्रवाई की जा रही थी। इसी दौरान तेरह गांव के किनारे एक जरजर पड़े कमरे के पीछे कुछ बदमाशों के होने का आभास हुआ, जिन्हें पुलिस टीम द्वारा आत्मसमर्पण करने के लिए कहा गया, जिसपर बदमाशों द्वारा पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी गई। इस मुठभेड़ एक अभियुक्त बग्गा उर्फ शहादत उर्फ मुन्ना घायल हो गया तथा पॉचों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गयाा। घायल अभियुक्त बग्गा उर्फ शहादत उर्फ मुन्ना को उपचार हेतु अस्पताल भेजा गया।
गिरफ्तार अभियुक्त बग्गा उर्फ शहादत उर्फ मुन्ना उपरोक्त ने पूछताछ पर बताया कि उसकी उम्र लगभग 40 साल है और वह घुमन्तु छैमार जनजाति से है, जो कि घूम-घूम कर डेरे बनाकर रहते हैं। बताया कि पूर्व में उसके दादा प्यारे लाल ने ईटखारी बिनौरा थाना तिर्वा जनपद कन्नौेज में जगह लेकर घर बनाया था, जहॉं पर पुलिस का दबाब बढ़ने पर वह कन्नौज छोडकर रजबपुर अमरोहा क्षेत्र में आकर रहने लगा था। बताया कि फाती उर्फ पहलवान नट निवासी बिनौरा, थाना तिर्वा, जनपद कन्नौज उसका सगा चाचा है, उसने (बग्गा उर्फ मुन्ना) अपने चाचा फाती उर्फ पहलवान के साथ रहकर अपराध करना सीखा और घरों  में डकैतीध्नकबजनी की घटनाऐं करने लगा। बताया कि प्रायः यह गैंग कबाड़ बीनने, फूल बेचने या घूम-घूमकर सामान बेचने के बहाने डकैती, नकबजनी करने के उद्देश्य से घरों की रैकी करता है और रात्रि में घरों की छत के रास्ते घरोें मे घुसकर चोरीध्लूटपाट करता है और जाग हो जाने पर परिजनों पर आक्रमण करके गंभीर चोट पहॅुचा देता है तथा हत्या भी कर देता है। अपराधी बग्गा उर्फ मुन्ना ने यह भी बताया कि वह थाना मड़ियांव, जनपद लखनऊ से वर्ष-2017 में अपने चाचा फाती उर्फ पहलवान के साथ जेल गया था और लगभग 11 माह जेल में रहने के बाद जमानत पर बाहर आया था। बताया कि कादिर उर्फ सियाज उर्फ भूरा उसके चाचा फाती उर्फ पहलवान का लड़का है, जिसकी उम्र लगभग 24 साल है, जो वर्ष-2020 में थाना बाबूगढ़, जनपद हापुड से चोरी की घटना में जेल गया था। यह भी बताया कि कादिर ने अपने गैंग के साथ थाना पुरकाजी, मुजफ्फरनगर क्षेत्र में 05-अगस्त 2022 को एक ही रात में कई घरों में नकबजनी की घटनाएं की थीं। अभियुक्त बग्गा उर्फ मुन्ना ने यह भी बताया कि पम्मी उर्फ इकबाल उर्फ जाविद पुत्र जमात अली उसका सगा भाई है, जो वर्ष-2014 में थाना मण्डी धनौरा, जनपद अमरोहा में घर में घुसकर परिजनों को बंधक बनाकर लूटपाट करने के अपराध मे जेल जा चुका है। अभियुक्त बग्गा उर्फ मुन्ना ने बताया कि कलीम उर्फ मास उर्फ आदिल और करीम खान उर्फ सोहेल उर्फ भगत उपरोक्त उसके सगे चाचा के लड़के हैं, जो घूम-घूमकर उसके साथ अपराध करते हैं। बताया कि उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों के अलावा बिहार के कई जिलों विशेष रूप से गया और पटना में कई घटनाओं को अन्जाम दिया हैं, जिसके सम्बन्ध में और जानकारी की जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button