Breaking News

सिसोदिया के बयान पर AAP ने दी सफाई- केजरीवाल नहीं होंगे पंजाब के मुख्यमंत्री

सिसोदिया के बयान पर AAP ने दी सफाई- केजरीवाल नहीं होंगे पंजाब के मुख्यमंत्री

पंजाब विधानसभा चुनाव में पार्टी अगर सरकार बनाने में कामयाब हो जाती है तो फिर मुख्यमंत्री कौन होगा, इस सवाल के जवाब को लेकर अब तक कयास ही लगते रहे हैं. मंगलवार को इसे लेकर आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया ने बड़ा बयान दिया. उन्होंने कहा कि पंजाब की जनता को यह मान कर आप को वोट देना चाहिए कि यहां सीएम अरविंद केजरीवाल ही होंगे. बता दें कि दिल्ली का दूसरी बार सीएम बनने के बाद केजरीवाल ने कहा था, ''मैं अब दिल्ली छोड़कर कहीं नहीं जाऊंगा.'' हालांकि, आम आदमी पार्टी ने इस बयान को लेकर सफाई दी है. AAP की नेता अतिशी मर्लेना ने एक टेलीविजन चैनल से कहा कि अरविंद केजरीवाल को पंजाब चुनाव का चेहरा बनाने की दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की टिप्पणी को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया. मर्लेना ने कहा, "उन्होंने (सिसोदिया) कहा कि केजरीवाल को मुख्यमंत्री का उम्मीदवार समझकर वोट दीजिए. उन्होंने यह नहीं कहा कि केजरीवाल मुख्यमंत्री होंगे.

सिसोदिया ने क्या कहा
पंजाब आम आदमी पार्टी के तमाम बड़े नेता यह बात साफ कर चुके हैं कि मुख्यमंत्री पंजाब से ही होगा और पंजाबी होगा, और मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान विधानसभा चुनावों के बाद विधायकों की रजामंदी से किया जाएगा. दिल्ली के डिप्टी सीएम और आम आदमी पार्टी के सीनियर लीडर मनीष सिसोदिया ने पंजाब के मोहाली में चुनावी रैली के दौरान ये बयान दे दिया कि पंजाब की जनता केजरीवाल के चेहरे को देखकर ही वोट करें और यह मानकर चलें कि पंजाब के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ही होंगे. मुख्यमंत्री चाहे कोई भी हो लेकिन पंजाब की जनता को जो वायदे किये गये हैं वह अरविंद केजरीवाल ही पूरे करेंगे.

AAP की सफाई
आम आदमी पार्टी (आप) ने मंगलवार को कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पंजाब चुनाव में पार्टी का चेहरा हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि चुनाव जीतने पर वही मुख्यमंत्री बनेंगे. आप नेता अतिशी मर्लेना ने एक टेलीविजन चैनल से कहा कि अरविंद केजरीवाल को पंजाब चुनाव का चेहरा बनाने की दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की टिप्पणी को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया. मर्लेना ने कहा, "उन्होंने (सिसोदिया) कहा कि केजरीवाल को मुख्यमंत्री का उम्मीदवार समझकर वोट दीजिए. उन्होंने यह नहीं कहा कि केजरीवाल मुख्यमंत्री होंगे. वह आप का चेहरा हैं, जिसे पंजाब के लोग देख रहे हैं."

अकाली दल ने कहा- हम तो पहले ही कहते रहे हैं
सिसोदिया के इस बयान के सामने आने के बाद ही पंजाब में सियासी पारा काफी चढ़ गया. अकाली दल ने अरविंद केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा कि वो तो पहले ही कहते रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल पंजाब का मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं ताकि केंद्र सरकार के साथ वो अपनी लड़ाई पंजाब के सहारे कर सकें और इसी वजह से ही अरविंद केजरीवाल ने अब तक किसी भी पंजाब के नेता के नाम का ऐलान बतौर पंजाब सीएम नहीं किया है. अकाली दल ने कहा कि केजरीवाल बैक डोर से पंजाब के सीएम बनना चाहते हैं. वही पंजाब में आम आदमी पार्टी के पूर्व कन्वीनर रह चुके और पार्टी से निकाले जा चुके सुच्चा सिंह छोटेपुर ने भी अरविंद केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा कि उनको तो पहले से ही पता था कि अरविंद केजरीवाल पंजाब का सीएम बनने का सपना देख रहे हैं और इसी वजह से पंजाब के एक के बाद एक नेता को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने की कोशिश कर रहे हैं. सुच्चा सिंह छोटेपुर और अकाली दल की तरफ से पंजाब के डिप्टी सीएम सुखबीर बादल और अकाली दल के प्रवक्ता मनजिंदर सिंह सिरसा ने आम आदमी पार्टी के पंजाबी नेताओं को चैलेंज करते हुए कहा कि अगर उनमें थोड़ी सी भी गैरत बची है तो वो आम आदमी पार्टी को तुरंत छोड़ दें. क्यूंकि ये पार्टी ना तो पंजाब के हित में सोचती है और ना ही ये पार्टी पंजाब के किसी चेहरे को आगे रख कर पंजाब में राजनीति करने वाली है.