Breaking News

वाहनों में लगी प्रचार सामग्री जब्त

वाहनों में लगी प्रचार सामग्री जब्त

लखनऊ। चुनाव आयोग द्वारा उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2017 की तारीखों की घोषणा होते ही प्रदेश भर में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई। इसके बाद प्रदेश भर में उत्तर प्रदेश पुलिस ने राजनीतिक पार्टियों द्वारा प्रचार के लिए लगाई गईं होर्डिंग, बैनर और पोस्टर के साथ हूटर लगी कार और लाल नीली बत्ती लगी कारों के खिलाफ अभियान छेडक़र शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। वहीं आईजी जोन लखनऊ ए सतीश गणेश ने ड्रोन कैमरे से होर्डिगों और प्रचार सामग्री की निगरानी करना शुरू कर दिया है।
आईजी ने बताया कि आचार संहिता के चलते पुलिस ड्रोन कैमरे से होर्डिगों की निगरानी कर रही है। गुरुवार को अलग-अलग क्षेत्रों से कई तस्वीरें ली गईं इनमें होर्डिंग नजर नहीं आ रहे हैं। वहीं, हूटर लगी कारों पर भी पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। गोमतीनगर स्थित (वूमेन पावर लाइन 1090) चौराहे पर यातायात पुलिस ने सघन चेकिंग अभियान चलाकर वाहनों में लगी प्रचार सामग्री जब्त की। वहीं एक भाजपा नेता की झंडा लगी कार का भी चालान किया गया। इतना ही नहीं यातायात पुलिस ने वर्दीधारियों को भी नहीं बख्शा और सोनी तिवारी नाम की महिला सिपाही की गाड़ी का चालन कर दिया इससे वह भडक़ गई। सोनी वर्तमान समय में मुख्यमंत्री आवास पर सुरक्षा में तैनात है। वहीं गाजीपुर थाना क्षेत्र के के पॉलिटेक्निक चौराहे पर चेकिंग में एक दर्जन पीसीएस व अन्य अधिकारियों समेत विधायकों की गाडिय़ों की नीली और लाल बत्ती पॉलिटेक्निक इंचार्ज सतेंद्र राय की मौजूदगी में उतारी गईं। यह अभियान सिर्फ लखनऊ में ही नहीं पूरे यूपी भर में चलाया जा रहा है। पुलिस चेकिंग अभियान में व्यस्त थी। लेकिन इस दौरान उधर से गुजरने वाले वाहनों की लंबी कतारे मुख्य मार्ग पर लग जाने से राहगीरों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ा। चेकिंग अभियान में पुलिस ने कई वाहनों में लगे पार्टियों के झंडे, हूटर, लाल-नीली बत्तियां उतारी और जुर्माना वसूला।